» आश्चर्यजनक
अविश्वसनीय जन्म कुण्डली के साथ जन्मी भारतीय लड़की ने एलियंस की सच्चाई का किया खुलासा
Go Back | Yugvarta , Sep 17, 2022 07:26 PM
0 Comments


0 times    0 times   

News Image Lucknow :  ज्योतिषी अटलांटा कश्यप कहती हैं पृथ्वी पर हमारे पास मुख्यरूप से 03 स्थानों पर एलियंस हैं, भारत उनमें से एक है। अटलांटा ने वैज्ञानिक को उसे गलत साबित करने की खुली चुनौती दी है। सूत्रों के अनुसार अपने बयान को सही ठहराने के लिए वो अपने सोशल मीडिया (फेसबुक) हैंडल "अटलांटा कश्यप_प्रेडिक्शन" के माध्यम से सबूत साझा करेंगी।

अटलांटा कश्यप ने दी विज्ञान को चुनौती, कहा एलियंस आकाश में नहीं, धरती पर है।

अटलांटा कश्यप एक प्रसिद्ध भारतीय ज्योतिषी हैं जो ज्योतिष के 64 कलाओं में से कई कलाओं में माहिर है। वह बचपन से ही भविष्य की भविष्यवाणी करती रही

अटलांटा कश्यप ने दी विज्ञान को चुनौती, कहा एलियंस आकाश में नहीं, धरती पर है

है और वह अपनी भविष्यवाणी में कभी असफल नहीं हुई। अटलंता भविष्यवक्ता है जो कभी भी बाबा वंगा या नास्त्रेदमस जैसे प्राचीन भविष्य के भविष्यवक्ताओं में से किसी के साथ मेल नहीं खाता है।
उसके दोसतो और परीजनो का मानना ​​​​है कि अगर वह अस्थायी रूप से कुछ भी कहती है तो वो सच हो जाता है और हम मानते हैं कि अटलांटा एक सुपर किड है। हमारे पास साझा करने के लिए बहुत सी कहानियां हैं। सबसे अच्छे उदाहरणों में से एक होगा कुछ भारतीय महिलाएं गर्भधारण करने में सक्षम नहीं थीं, वे पिछले 6-7 वर्षों से कोशिश कर रही थीं। अलग-अलग डॉक्टरों से मिलने के बाद दवाएँ लेने के बाद उन्होंने बच्चा होने की उम्मीद लगभग खो दी थी। ज्योतिषी अटलांटा के साथ अपनी भावनाओं को साझा किया। ज्योतिषी अटलांटा ने उनसे कहा आप निश्चित रूप से एक आत्मा को जन्म देंगे और ज्योतिषी अटलांटा ने उन महिलाओं को खुद को एक पत्र या एक ईमेल लिखने के लिए कहा मैं कुछ महीनों/वर्षों में गर्भ धारण करूंगी। ये महिलाएं गर्भधारण करने में सक्षम रही और मातृत्व का आनंद लेने में सक्षम हुई। ज्योतिषी अटलांटा जन्म से पहले बच्चे के लिंग का अनुमान भी लगा सकती हैं। बहुत बार जब डॉक्टरों ने बच्चे के जन्म की तारीख की भविष्यवाणी की है, तो यह गलत हो गया है और बच्चे का जन्म उस तारीख को हुआ है, जिस तारीख को ज्योतिषी अटलांटा ने भविष्यवाणी की थी।
ज्योतिषी अटलांटा का मानना ​​है कि इस धरती पर मेरे जैसे कई सुपरकिड्स पैदा हुए हैं। कभी-कभी हम मानते हैं कि ये सतही बातचीत हैं, लेकिन ऐसा नहीं है। इन शक्तियों का होना बहुत अच्छा है और जब भी आवश्यकता होती है लोगों की मदद करने के लिए, उन्हें खुश करने के लिए उनका उपयोग करें।
अटलांटा ने कई वर्षों से एलियंस पर एक सिद्धांत तैयार किया है और इसे चांदी चंद्रमा परियोजना / सिल्वर मून प्रोजेक्ट का नाम दिया है| अटलांटा के शोध के अनुसार वह कहती है मैं 3000% निश्चित हूं और मैं एलियंस के लिए सभी को चुनौती दे सकती हूं, कि वे आकाश में या अन्य ग्रहों पर कहीं नहीं हैं, एलियंस यहां पृथ्वी पर हैं। मुझे एलियंस के बारे में बहुत कुछ पता है कि वे कहां रहते हैं? वे कैसे रहते हैं? वे इस तरह क्यों दिखते हैं? मुझे यह सब पता है। मुझे उनकी श्रेणियों के बारे में भी पता है। मैं अच्छे इंसानों के लिए केवल 30% सुराग साझा कर रहा हूं। यह जानकारी उन लोगों के लिए नहीं है जो पृथ्वी पर उच्च प्रजनन करने की कोशिश कर रहे हैं। मेरा मानना ​​​​है कि अगर विज्ञान सकारात्मक शोध की ओर अग्रसर है तो दूसरी तरफ कुछ वैज्ञानिक नकारात्मक शोध भी कर रहे हैं और जो हमारे लिए विदेशी हैं वे वास्तव में नकारात्मक आत्माओं और नकारात्मक शोध के खिलाफ हैं।
क्या आप जानते हैं कि हम भी उनके लिए एलियन हैं? अटलांटा की भविष्यवाणी के अनुसार पृथ्वी पर 3 सक्रिय श्रेणियां हैं। मैं उन्हें ग्रेड ए (स्थान कोड - एआरए/एआरए) के रूप में विभाजित करती हूं। भारत में एलियंस ग्रेड बी (स्थान कोड - आरएसएन/आरएसएन+एचएलए/एचएलए)। संयुक्त राज्य अमेरिका में एलियंस ग्रेड सी (स्थान कोड - एबी/एबी)।

क्या आप मानते हैं कि एलियंस भी मरते हैं ?
विज्ञान ने एक ऐसी गलती की है जहां एलियंस फंस गए।
पहली एलियन कैटेगरी एक दूसरे से संपर्क बनाने की कोशिश कर रही है। ग्रेड ए, बी, सी अपनी समस्याओं को हल करने के लिए एक दूसरे से मिलना चाहते हैं। इसमें कोई शक नहीं कि एलियंस बेहद टैलेंटेड होते हैं, वे दिमाग पढ़ सकते हैं। एलियंस कुछ तरंग ऊर्जा जैसे टेलीपैथी में भारी भाग लेते हैं। वे कहीं भी जा सकते हैं और वापस भी आ सकते हैं। लेकिन आखिरकार वे धरती पर दर्दनाक समस्याओं का सामना कर रहे हैं। 12 से 21 एलियंस की एक कैटेगरी होती है। प्रथम श्रेणी की आंखें काली होती हैं, वे सेना के सैनिकों की तरह होती हैं और आध्यात्मिक विशेष सुरक्षा में माहिर होती हैं। अन्य दो श्रेणियां बहुत ही सौम्य, मासूम, प्यार करने वाली हैं जो भगवान के बहुत करीब हैं। एलियंस मानव जीवन के दुश्मन नहीं हैं।
लेकिन विज्ञान से कुछ ऐसी गलती हो गई है, जो एलियंस को बाहर नहीं निकलने देती। मेरे पास इस तरह के कई सिद्धांत हैं लेकिन उन्हें साझा करने का यह सही समय नहीं है।
उन्होंने मुझे एलियंस और इंसानों के बीच मध्यस्थता करने के लिए अपने दोस्त के रूप में चुना है। एलियंस कई आत्माओं से संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन वे सुपर किड की तलाश में थे। उन्हें भी दर्द हो रहा है। एलियंस ने बताया कि इससे पहले भी कई एलियंस किसी न किसी रिसर्च की वजह से मर चुके हैं।
अब हमें इंतजार करने और देखने की जरूरत है कि शोध में ज्योतिषी अटलांटा ने हमारे लिए क्या किया है! हमें यह भी जानने की जरूरत है कि एलियन के स्थान के बारे में ज्योतिषी अटलांटा को कैसे पता चला? अटलांटा ने कहा कि वह सब कुछ सार्वजनिक रूप से या तो प्रत्येक रिपोर्ट की पहले की तारीख या टाइम साइंस रिपोर्ट की तारीख तक साबित कर देगी।
#AtlantaKaashhyap #Dr_AtlantaKaashhyap #AtlantaKaashhyap_Astrologer #AtlantaKaashhyap_Prediction
  Yugvarta
Previous News
0 times    0 times   
(1) Photograph found Click here to view            | View News Gallery


Member Comments    



 
No Comments!

   
ADVERTISEMENT




Member Poll
कोई भी आंदोलन करने का सही तरीका ?
     आंदोलन जारी रखें जनता और पब्लिक को कोई परेशानी ना हो
     कानून के माध्यम से न्याय संगत
     ऐसा धरना प्रदर्शन जिससे कानून व्यवस्था में समस्या ना हो
     शांतिपूर्ण सांकेतिक धरना
     अपनी मांग को लोकतांत्रिक तरीके से आगे बढ़ाना
 


 
 
Latest News
भारत की अर्थव्यवस्था का आधार रहा है
योगी 2.0 के 6 माहः जो कहा
जब देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने
गौरी खान ने दिया बेटे आर्यन को
Ind vs Aus 2nd T20I Live: दूसरे
आरक्षी पुलिस भर्ती परीक्षा-2009-10 के हजारों अभ्यर्थियों
 
 
Most Visited
मेक्सिको की Andrea Meza बनी Miss Universe
(4154 Views )
यूपी में टेस्टिंग बढ़ी, एक्टिव केस घटे,
(3412 Views )
CBSE Board Exam Date: सीबीएसई ने बदली
(2469 Views )
UP Board Exam 2021: यूपी बोर्ड परीक्षा
(1486 Views )

(1437 Views )
CM योगी आदित्यनाथ ने चैरी-चैरा की
(970 Views )